राजस्थान,Marwadi,मारवाड़ी की जाति,भाषा,बोलियां एवं अन्य Best जानकारी (1 click)

मारवाड़ी MARWADI भारत की एक प्रमुख जाति में से एक है, जो भारत के राजस्थान राज्य के मारवाड़ क्षेत्र से निकला दक्षिण एशियाई जातीय का एक समूह हैं। इनकी भाषा, जिसे Marwadi Jati, मारवाड़ी जाति, मारवाड़ी Marwadi बोली भी कहा जाता है, राजस्थानी भाषा का हिस्सा है। जोकि गुजराती भाषा से मिलती-जुलती है।


मारवाड़ी/ MARWADI,Marwari Caste


मारवाड़ी Marwadi राजपूत साम्राज्यों के समय से ही मारवाड़ रियासत के व्यक्तियो द्वारा अंतर्देशीय व्यापारियों के रूप में और बाद में औद्योगिक उत्पादन की ओर और अन्य क्षेत्रों में निवेशकों के रूप में अपने आप में एक बेहद सफल व्यापारिक समुदाय रहा है।

आज, वे देश के कई बड़े मीडिया समूहों को नियंत्रित करते हैं। हालांकि आज ये समुदाय पूरे भारत और नेपाल में फैल गया, लेकिन ऐतिहासिक रूप से ये कलकत्ता और मध्य और पूर्वी भारत के पहाड़ी इलाकों में सबसे अधिक केंद्रित थे। मारवाड़ी Marwadi  को एक जाति के रूप में स्वीकार किया जा चुका है। यह जाति वैश्य की उपजाति के रूप में ही मान्य है। आरक्षण की श्रेणी में देखा जाए तो इसे BC-2 यानि OBC का दर्जा मिलना चाहिए!


आस-पास कहाँ-कहाँ रेस्टोरेंट मौजूद हैं


मारवाड़ी/MARWADI भाषा तथा राजस्थानी


मारवाड़ी राजस्थान राज्य में बोली जाने वाली एक स्थानीय क्षेत्रीय बोली है। यह राजस्थान की एक मुख्य भाषाओं में से एक है। उपरोक्त बोली का उपयोग मारवाड़ी Marwadi  गुजरात, हरियाणा और पूर्वी पाकिस्तान में भी किया जाता है। इसकी मुख्य लिपि देवनागरी है। इसकी कई उप-बोलियाँ भी है।

           मारवाड़ी Marwadi  की ख़ुद की लिपि जिसे मोड़िया लिपि भी हैं। परन्तु इस लिपि के विकास में राजपुताने राजस्थान के राजा-महाराजा (वर्तमान में राजस्थान राज्य) व राजस्थान सरकार ने कोई विशेष ध्यान नहीं दिया। हाल ही में बीकानेर से चयनित सांसद श्री अर्जुनराम मेघवाल ने राजस्थानी भाषा को भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करवाने के लिए बहुत प्रयास किये, लेकिन हिंदी भाषी लोगो के विरोध के चलते वे इसमें असफल रहे।

पिछले 40-५० सालों से इस भाषा के विकास पर बातें तो बहुत होती रही है पर कार्य के मामले में कोई विशेष प्रगति नहीं दिखी। इन दिनों सन् 2011 से कोलकाता के श्री शम्भु चौधरी इस दिशा में काफी कार्य किया है। राजस्थानी भाषा कि लिपि के संदर्भ में यह गलत प्रचार किया जाता रहा कि इसकी लिपि देवनागरी है जबकि राजस्थान के पुराने दस्तावेजों से पता चलता है कि इसकी लिपि मोड़िया है। उस लिपि को महाजनी भी कहा जाता है। हांलाकि मोड़िया लिपि को भी महाजनी लिपि का दर्जा दिया गया हैं। कुछ लोग मोड़ी लिपि को ही मोड़िया लिपि कहते है। जब इसे विस्तार से देखा गया तो दोनों लिपि में काफी अन्तर पाया गया है।


IPS Full Form इन हिंदी


मारवाड़ी/MARWADI बोलियाँ


        राजस्थानी बोलियों के पारस्परिक संयोग एवं सम्बन्धों के विषय में जॉर्ज अब्राहम ग्रियर्सन ने लिखा तथा वर्गीकरण किया है। जॉर्ज अब्राहम ग्रियर्सन का  वर्गीकरण निम्नानुसार है :-

  • मारवाड़ी, Marwadi मेवाड़ी, ढारकी, बीकानेरी, बाँगड़ी, शेखावटी, मोड़वाडी, देवड़ावाटी आदि पश्चिमी राजस्थान में बोली जाने वाली बोलियाँ है !
  • अहीरवाटी और मेवाती उत्तर-पूर्वी राजस्थानी में बोली जाने वाली बोलियाँ है ।
  • ढूँढाड़ी, तोरावाटी, जैपुरी, काटेड़ा, राजावाटी, अजमेरी, किशनगढ़, नागर चोल, हड़ौती मध्य-पूर्वी राजस्थानी में बोली जाने वाली बोलियाँ है 
  • रांगड़ी और सोंधवाड़ी दक्षिण-पूर्वी राजस्थान बोली जाने वाली बोलियाँ है !
  • निमाड़ी आदि दक्षिण राजस्थानी बोली जाने वाली बोलियाँ है

राजस्थानी-बोलियों


विशेषताएँ


       राजस्थानी- मारवाडी Marwadi भाषा में ‘ है ‘ वर्ण की लिपि नहीं। जिसके कारण यह भाषा देवनागरी लिपि की मोहताज है। ‘ है ‘ वर्ण फारसी मूल का होना बताया जाता है। इसी ने ‘ सिंधु’ को ” हिन्दु” बना दिया। जबकि मूलतः ‘ है ‘ वर्ण से पहले ‘इ’ की मात्रा लगने से ही ” इहैन्दु ” शब्द बनना चाहिये।

      राजस्थानी- मारवाडी Marwadi  बोली में जैसे ‘सडक’ को ‘हैडक’ बोला जाता है और कई शब्द ऐसे हैं, जो ‘है’ की सभी जगह ‘स’ के उपयोग से अभिव्यक्त नहीं होते। वैसे हिन्दी में भी ‘है’ का उच्चारण लिपि के आधार पर तो “हई ” होना चाहिये, हम केवल अपनी सुविधा के लिये इसे ‘है’ बोलते हैं


Full Form SSC IFS IAS IPS PSC UPSC IN HINDI

OTT की फुल फॉर्म| Best OTT Full Form In Hindi


राजस्थान-घूमने-का-सबसे-अच्छा-समय

प्रमुख/MARWADI,marwari person, मारवाड़ी व्यक्ति


क्रमांक

नाम/पता कुल (Billion USD) धन नगर/महानगर संचालित कंपनी

उद्योग रिमार्क

1 श्री लक्ष्मी मित्तल 15.10 (Billion USD) लन्दन महानगर कंपनी आर्सेलर मित्तल इस्पात
2 श्री शशि रुइया तथा रवि रुइया 15.0 (Billion USD) मुम्बई महानगर कंपनी  एस्सार समूह कंग्लोमरेट
3 श्री कुमार मंगलम बिड़ला 8.50 (Billion USD) मुम्बई महानगर कंपनी आदित्य बिड़ला समूह कांग्लोमरेट
5 श्री वेणुगोपाल धूत 2.65 (Billion USD) मुम्बई महानगर कंपनी विडियोकॉन कांग्लोमरेट
6 श्री गौतम सिन्घानीया 1.40 (Billion USD) मुम्बई महानगर कंपनी रेमण्ड समूह कांग्लोमरेट
7 श्री आर पी गोयनका 1.30 (Billion USD) मुम्बई महानगर कंपनी RPG Group कांग्लोमरेट
8 श्री राकेश झुनझुनवाला 1.10 (Billion USD) मुम्बई महानगर कंपनी रेअर इंटर्प्राइजेज निवेश
9 श्री राहुल बजाज 1.10 (Billion USD) पुणे नगर कंपनी बजाज ऑटो लिमिटेड गाड़ियाँ
10 श्री किशोर बियानी 0.912 (Billion USD) मुम्बई महानगर कंपनी फ्यूचर समूह खुदरा
11 श्री बी के गोयनका मुम्बई महानगर कंपनी वेस्टर्न समूह कांग्लोमरेट
12 श्री सेठ रामनाथ सोनी उत्तर प्रदेश राज्य ज्वैलर दुकान

 


अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न


प्रश्न: राजस्थान घूमने का सबसे अच्छा समय कब है?..
उत्तर: राजस्थान की यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक सर्दियों के महीनों के दौरान होता है, जब मौसम सुहावना होता है।
प्रश्न: क्या राजस्थान में कोई लक्जरी हेरिटेज होटल हैं?
उत्तर: हां, राजस्थान में उम्मेद भवन पैलेस और लेक पैलेस जैसे कई लक्जरी हेरिटेज होटल हैं, जो शाही प्रवास का अनुभव प्रदान करते हैं।
प्रश्न: क्या राजस्थान अकेले यात्रियों के लिए सुरक्षित है?
उत्तर: राजस्थान आम तौर पर अकेले यात्रियों के लिए सुरक्षित है, लेकिन हमेशा आवश्यक सावधानी बरतने और अपने आस-पास के बारे में जागरूक रहने की सलाह दी जाती है।
प्रश्न: घूमर नृत्य का क्या महत्व है?
उत्तर: घूमर नृत्य एक पारंपरिक राजस्थानी नृत्य है जो महिलाओं द्वारा विशेष अवसरों पर जश्न मनाने और खुशी व्यक्त करने के लिए किया जाता है।
प्रश्न: क्या मैं थार रेगिस्तान में ऊंट सफारी का अनुभव कर सकता हूं?

उत्तर: हां, ऊंट सफारी थार रेगिस्तान में एक लोकप्रिय गतिविधि है, जो एक प्रामाणिक और यादगार रेगिस्तान अनुभव प्रदान करती है।

1 thought on “राजस्थान,Marwadi,मारवाड़ी की जाति,भाषा,बोलियां एवं अन्य Best जानकारी (1 click)”

Comments are closed.

%d bloggers like this: