SUHAIL AHMAD KHAN
Third ODI : India beat New Zealand by 7 wickets to clinch series - Cricket News in Hindi

shanti group

माउंट माउंगानुई। भारतीय क्रिकेट टीम खेल के हर क्षेत्र में लाजवाब प्रदर्शन कर सोमवार को यहां हुए तीसरे वनडे मैच में न्यूजीलैंड को सात विकेट से हरा दिया। मोहम्मद शमी (41/3 विकेट) को मैन ऑफ द मैच चुना गया। चौथा वनडे 31 जनवरी को खेला जाएगा। बे-ओवल मैदान पर मिली इस जीत से भारत ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है। भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ उसके घर में 10 साल बाद कोई द्विपक्षीय सीरीज अपने नाम की है।

इससे पहले 2009 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने कीवी टीम को हराया था। न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लेते हुए रॉस टेलर (93) और टॉम लैथम (51) की शानदार पारियों के दम पर भारत को 244 रनों का लक्ष्य दिया। भारत ने न्यूजीलैंड की पारी 49 ओवर में 243 रनों पर ही समेट दी। इस पारी में भारत के लिए शमी ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए। वहीं भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल और हार्दिक पांड्या को दो-दो सफलताएं मिलीं।

जवाब में रोहित शर्मा (62) और कप्तान विराट कोहली (60) के अर्धशतकों से भारत को जीत दर्ज करने में ज्यादा जोर नहीं आया। हालांकि इस लक्ष्य को हासिल करने उतरी भारतीय टीम को 39 के स्कोर पर शिखर धवन (28) के रूप में अपना पहला विकेट गंवाना पड़ा। धवन को ट्रेंट बोल्ट ने रॉस टेलर के हाथों कैच आउट कर पवेलियन की राह दिखाई।

इसके बाद, रोहित और विराट ने दूसरे विकेट के लिए 113 रनों की शतकीय साझेदारी से टीम की पारी को संभाला और उसे 152 के स्कोर तक पहुंचाया। इसी स्कोर पर मिशेल सैंटनर की गेंद पर रोहित, टॉम लैथम के हाथों स्टम्प पर आउट हो गए।

रोहित और विराट के बीच हुई यह साझेदारी वनडे क्रिकेट में दो बल्लेबाजों द्वारा सबसे अधिक बार शतकीय साझेदारी करने वाली सूची में चौथे स्थान पर है। इस सूची में सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की जोड़ी पहले स्थान पर है। दोनों ने वनडे क्रिकेट में 26 बार शतकीय साझेदारी की है। इस पारी में रोहित ने 77 गेंदों का सामना किया और तीन चौके तथा दो छक्के लगाए।

उनके आउट होने के बाद कोहली ने अंबाती रायडू (नाबाद 40) के साथ 16 रन ही जोड़े थे कि बोल्ट ने कोहली को हैनरी निकोल्स के हाथों कैच आउट कर भारत का तीसरा विकेट गिराया। रायडू ने इसके बाद, इस मैच के लिए चोटिल महेंद्र सिंह धोनी के स्थान पर अंतिम एकादश में शामिल हुए दिनेश कार्तिक (नाबाद 38) के साथ बिना कोई और नुकसान किए जीत के लिए जरूरी 77 रनों को हासिल कर टीम को 244 के लक्ष्य तक पहुंचाया और सात विकेट से जीत हासिल की।