Brijesh Yadav————————————————————————————————————

PM Modi spoke in the interview, Ram temple will be built on the consent of law - Delhi News in Hindi

 

नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने कहा है कि राममंदिर कानून की सहमति से बनाया जाएगा। यह बयान प्रधानमंत्री मोदी का राम मंदिर को लेकर बेहद अहम बयान दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए कोई अध्यादेश तभी लाया जा सकता है, जब इस पर कानूनी प्रक्रिया पूरी हो जाए।

न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए साक्षात्कार में उन्होंने राम मंदिर को लेकर अदालती कार्यवाही में देरी होने को लेकर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वकील सुप्रीम कोर्ट में बाधा उत्पन्न करने में लगे हैं, इसके चलते राम मंदिर मसले की सुनवाई की धीमी गति हो गई है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमने अपने मेनिफेस्टो में कहा था कि इस मसले का समाधान संवैधानिक तरीके से होगा। भाजपा ने लोकसभा चुनाव के अपने घोषणापत्र में कहा था कि वह अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण करना चाहती है।

प्रधामंत्री मोदी ने कहा कि राम मंदिर को लेकर अदालती कार्यवाही में देरी कांग्रेस के कारण हुआ है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वकील सुप्रीम कोर्ट में बाधाएं उत्पन्न कर रहे हैं, इसके चलते राम मंदिर मसले की सुनवाई की गति धीमी हो गई है।

तीन तलाक पर लाए अध्यादेश और राम मंदिर से तुलना करने पर पीएम मोदी ने कहा कि दोनों में बहुत अंतर है। उन्होंने कहा कि तीन तलाक पर अध्यादेश तब लाया गया, जब सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आ गया था। यह भी सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक ही लाया गया है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने राम मंदिर मसले को अटकाने का ही काम किया है।