shanti group

सूरत के इस प्रतिष्ठित व्यापारी का नाम घनश्याम दामजी भाई है जिसने बागपत पुलिस द्वारा किसी भी प्रकार की सुनवाई ना होने पर एडीजी जोन मेरठ को एक प्रार्थना पत्र प्रेषित किया है जिसमें उसने बागपत की पुलिस लाइन में तैनात एक कांस्टेबल संजीव तेवतिया की शिकायत की है। संजीव तेवतिया व कांस्टेबल है जिसने इस व्यापारी से 2500000 रुपए ठग लिए हैं जिसका जिक्र व्यापारी ने अपने प्रार्थना पत्र में किया है और अपने पैसे उक्त कांस्टेबल से वापस दिलाने की गुहार लगाई है।

संजीव तेवतिया के बारे में कहा जा रहा है कि वह कभी खुद को पुलिस का इंस्पेक्टर बताने लगता है तो कभी जज का खास। व्यापारी से बात करते हैं उसके कई कॉल रिकॉर्डिंग हुआ मैसेज के स्क्रीनशॉट है जिसमें वह खुद को अपने सभी वरिष्ठ उच्चाधिकारियों का बेहद खास वह अपना हिस्सेदार बता रहा है।

एक तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर के व्यापारियों को उत्तर प्रदेश में आने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं और साथ में उत्तर प्रदेश पुलिस के दम पर पूर्ण सुरक्षा देने की गारंटी भी दे रहे हैं पर उत्तर प्रदेश के बागपत पुलिस ने जिस प्रकार का रूप व्यापार व व्यापारियों के विरुद्ध दिखाया है उसको जान कर कम से कम गुजरात के सूरत क्षेत्र के व्यापारी उत्तर प्रदेश में निवेश करने या किसी भी प्रकार से उत्तर प्रदेश पुलिस पर भरोसा करने से निश्चित रूप से डरेंगे और संकोच करेंगे।